15 Blogging Mistakes जो भूलकर भी नहीं करना चाहिए

by | Apr 13, 2020 | Uncategorized

क्या आप भी अपने bog से मनचाहा result पाने के लिए struggle कर रहे हैं?

हालांकि blogging complicated हो सकती है इसलिए आपको देखना होगा कि, क्या आप सही direction में काम कर रहे हैं?

गलती करना इंसान का स्वभाव होता है। जब कोई भी नया Blogger अपनी blogging journey की शुरुआत करता है, तो काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है और काफी सारी गलतियाँ भी होती हैं। यह बात सही है कि गलती करने से ही सीखते हैं लेकिन कोशिश यही करें कि दूसरों की गलतियों से सीख जाएँ या पहले से सतर्क हो जाएँ।

आज के इस आर्टिकल में हम आपको ऐसी 15 “Blogging mistakes in Hindi’ के बारे में बताएँगे जो कि अधिकतर bloggers करते हैं।

Blogging mistake in hindi

Mistake #1: Free Platform चुनना

शुरुआत में अधिकतर Blogger free के चक्कर में free platform चुन लेते हैं। जिसमें domain के आगे उस company का नाम जुड़ा होता है। जैसे यदि आप Blogger choose करते हैं तो domain के आगे blogspot जुड़ा रहेगा जैसे – xyz.blogspot.com, ये देखने और सुनने में काफी भद्दा लगता है।

Mistake #2: Free Domain चुनना

Free के चक्कर में बहुत से bloggers free domain name भी ले लेते हैं। जैसे .tk, .pk etc. ऐसे Domain भी सुनने में और बोलने में अटपटे लगते हैं तथा इन्हें Users अच्छा नहीं समझते अर्थात ऐसे domain के साथ आप अपने blog का future नहीं देख सकते।

Domain name हमेशा TLD (Top Level Domain) use करना चाहिए जैसे .com, .in, .co etc. सबसे बेहतर domain name .com होता है.

Mistake #3: Free या सस्ती Hosting चुनना

सस्ती Hostings आपको free में hosting तो दे देती हैं लेकिनं वे पैसे कमाने के लिए आपके blog में अपने advertisement दिखाते हैं, जो कि आपके blog को bad looking बनाती हैं, साथ ही blog की speed भी low कर देती हैं। कभी कभी इन Ads की वजह से users blog को छोड़ देते हैं.

वहीँ यदि सस्ती Hosting choose करते हैं तो आपको downtime, site speed, low storage etc. बहुत सी problems face करना पड़ता है।

Mistake #4: Regularly Post न करना

Bloggers की ये सबसे बड़ी mistake होती है यदि वे किसी schedule को follow नहीं करते हैं। अधिकतर Bloggers blog बनाने के बाद over confidence में शुरुआत में दिन में 3 – 4 article publish करते हैं लेकिन बाद में 2 दिन, 4 दिन, हफ्ते भर में एक article publish करते हैं।

भले ही रोजाना एक Article publish करें अथवा दो दिन में एक आर्टिकल publish करें, लेकिन post regularly करना चाहिए अर्थात schedule के साथ करें। ये नहीं कि मन किया तो कर दिए नहीं किया तो नहीं किये।

Mistake #5: Short Content Publish करना

Newbie bloggers अधिकतर ये गलती करते हैं। शुरुआत में समझ न होने के कारण किसी भी Topic को short detail में ही cover कर देते हैं। जबकि यदि आप किसी Topic पर लिख रहे हैं तो सबसे पहले खुद उसके बारे में अच्छे से जान लें, समझ लें तथा अच्छे से research करके अच्छी तथा विस्तृत जानकारी लिखें।

हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि Users को आपके article में उस topic की पूरी जानकारी नहीं मिलती है तो वो आपका Blog छोड़कर दुसरे blog में चला जाएगा। Google भी short content पसंद नहीं करता . इसीलिए Article में उसके topic से जुड़े हर बिंदु के बारे में लिखें।

Mistake #6: खराब Blog Design

कुछ लोग Blog design में ध्यान ही नहीं देते वहीँ कई blogger बहुत अच्छे design के चक्कर में over कर देते हैं। Blog का design simple होना चाहिए साथ ही navigation आसान होना चाहिए।

हर प्रकार के users आसानी से आपकी website use कर सकें। Blog में ज्यादा colors का उपयोग न करें. Background color, font size, font style आदि का भी ध्यान रखें।

Mistake #7: गलत Topic या गलत Niche चुनना

bloggers जो सबसे बड़ी गलती करते हैं वह है कि हर किसी के लिए कुछ ना कुछ लिखने की कोशिश करना।

For example- यदि कोई banking blogger विशेष रुप से small business lending मैं interest रखता है तो उसे मॉर्टगेज मार्केटिंग के बारे में लिख कर अपना समय और एनर्जी बर्बाद नहीं करना चाहिए। इसके बदले उसे अपनी एनर्जी अपने niche (इंटरेस्टिंग टॉपिक) स्मॉल बिजनेस लीडिंग में ही लगानी चाहिए। जैसे अलग-अलग बिजनेस के लिए अलग-अलग लोन ऑप्शन के बारे में बताना etc.

ऐसा करने से आप Long time work नहीं कर पायेंगे तथा ऐसा करना हमेशा नुकसानदायक ही साबित होता है। कई लोग इस गलती के कारण समय ख़राब कर के अंत में Blogging छोड़ देते हैं।

हमेशा ऐसा Niche choose करें जिसका आपको अच्छा knowledge हो तथा उसमें intrest हो। इससे आप कभी Bore नहीं होएंगे तथा आपको अपने blog के लिए नया content find करने में परेशानी नहीं होगी।

Mistake #8: बहुत सारी Categories पर लिखना

जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया कि गलत Niche choose करना नुकसानदायक हो सकता है। वैसे ही बहुत सारी categories में एक ही blog पर लिखना भी फायदेमंद नहीं है।

आपको जिन Category में अच्छा knowledge है उसी category में लिखें तथा category एक दुसरे से मिलती जुलती ही चुनें।ज्यादा आवश्यक होने पर दूसरा Blog बनाकर उसमें अन्य categories पर लिख सकते हैं।

Mistake #9: ये मानना की सभी Content Viral हों

दोस्तों ये मानना बिलकुल गलत है कि आपके सभी Content viral हो। ये मानकर कुछ लोग एक ही Content के लिए 10 बार सोचते हैं तथा समय बर्बाद करते हैं और अंत में viral न होने पर पछताते हैं। जरूरी नहीं कि आपका हर Content viral हो। इसीलिए 10 दिन में 1 content न लिखकर 10 दिन में 10 content लिखें।

हो सकता हैं उनमें से कोई 1 Content ही इतना viral हो जाए जितने कोई न हुए हों। आपको अपने Niche से जुड़े तथा user की demand के सभी topics पर लिखना चाहिए। न कि ये सोचकर कि हर Content viral हो।

Mistake #10: Low-Quality Content

ये बिलकुल नहीं करना चाहिए कि Article का title लिखा और सीधा article लिखते चले गए। दोस्तों Article ऐसा होना चाहिए जो कि informative हो, easy language में हो, समझने में आसान हो तथा systematic तरीके से लिखा गया हो।

इसीलिए कभी भी Article लिखते समय इन सब बातों का ध्यान रखें। Article की formatting अच्छे से करें। Headings, subheadings का उपयोग करें, जहाँ जरूरत हो वहां bold, italic, underline, inverted comma etc. का उपयोग करें। Article की length के हिसाब से 3 से 5 image जरूर add करें।

अपने Content में जितना हो सके उतनी quality add करें जिससे visitors आपके blog में बनें रहें तथा returning visits भी मिलें।

Mistake #11: Regular Analytics Check करना

यह भी New bloggers की बहुत बुरी आदत होती है। अधिकतर नए Bloggers 10 से 20 article publish करते ही या फिर कोई भी नया content publish करते ही बार-बार analytics check करने लगते हैं। दोस्तों आप मेहनत करते जाएँ, Visitors खुद ही आना शुरू हो जायेंगे।

आपके Analytics check करने से visitor तो नहीं आयेंगे बल्कि आपका समय ही खराब होगा। इसीलिए अधिक से अधिक Quality content publish करें आपको सही समय में आपकी मेहनत के अनुसार visitors मिलना automatic शुरू हो जायेंगे।

Mistake #12: Adsense के पीछे भागना

जैसा हमने ऊपर बताया वैसे ही कई Bloggers blog बनाये हुए 4 दिन नहीं होते और adsense के पीछे भागने लगते हैं। दोस्तों जब आपके Blog में अच्छा traffic होगा तब ही अच्छी earning होगी। तो जब तक traffic न हो तब तक adsense बोझ लगता है।

इसीलिए Quality contents publish करने में focus करें और visitors बढ़ाएं उसके बाद adsense के पीछे भागें।

Mistake #13: जल्दी Blogging से हार मान जाना

ऐसे लाखों Bloggers हैं जो दुसरे bloggers से motivate होकर blogging शुरू तो कर देते हैं लेकिन कुछ समय बाद हार मानकर छोड़ देते हैं। इसके पीछे अधिकतर Blogger का कारण होता है earning न होना।

दोस्तों हम आपको बता दें कि Blogging भी एक business है जिसमें आपको समय, पैसे, मेहनत सब invest करना होता है। आसानी से आप Blogging में success नहीं हो सकते हैं, इसीलिए धैर्य रखें तथा मेहनत करते हुए अपने काम को अंजाम देते रहें।

Mistake #14: Audience को ना समझना

Blogger की सबसे बड़ी गलती यह गलतफहमी है कि उनके audience कौन हैं। ऐसे बहुत सारे ब्लॉग हैं जो topic को तो बहुत अच्छी तरह समझते हैं लेकिन अपने post के माध्यम से visitor को connect करने में असफल हो जाते हैं।

bloggers को अपने visitor की समस्याओं को समझते हुए content लिखना चाहिए। Otherwise post में गलत जानकारी शामिल है या सही, यही quality visitor को आपके blog में बनाए रखती है या उन्हें बाहर जाने पर मजबूर कर देती है।

ये बात ध्यान रखें कि जब आपको Audience पसंद करेगी तब ही आपको search engines rank देंगे। यदि Audience आपको नापसंद करने लगी तो आपकी बनी बनायी Rank भी search engines से गिरना शुरू हो जायेगी।

अपनी Audience की पसंद नापसंद को जाने तथा उनका ख्याल रखें। Article यही सोचकर लिखें कि हमें अपनी audience को अपने article से satisfy करना है। Audience को जो चाहिए वो उन्हें मिले इस बात का ध्यान रखें।

Mistake #15: नए Blog Post Ideas का न मिलना

ये Problem भी बहुत से bloggers face करते हैं। 50 – 100 article publish करने के बाद bloggers सोचने लगते हैं कि अब क्या लिखूं? इसीलिए हमेशा जिस Niche की जानकारी हो तथा जिसमें आप intrested हैं वही चुनें। साथ ही हमेशा Content लिखने में ही ध्यान न दें बल्कि अपने blog से related तथा competitor blogs को पढ़ें जिससे आपको नए नए ideas मिलेंगे।

नए Ideas ढूँढने के लिए Pinterest, youtube, quora, search engines, social media, question and answer forums का उपयोग करें। अपनी Audience से भी सलाह लें कि आपको किस topic पर लिखना चाहिए।

अंतिम शब्द :

दोस्तों उम्मीद करते हैं कि आपको इस आर्टिकल में दी गयी जानकारी से काफी कुछ सीखने को मिला होगा। आप भी इन सब बातों का ध्यान रखें तथा कभी भी ये सब गलतियां न करें नहीं तो आपको भी काफी तरह के नुक्सान झेलने पड़ सकते हैं।

इस आर्टिकल को अपने Blogger दोस्तों के साथ share करना न भूलें ताकि उनकी भी सहायता हो सके। इस आर्टिकल से Related query आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं।

How to Learn Digital Marketing | डिजिटल मार्केटिंग कैसे सीखें

डिजिटल मार्केटिंग इंटरनेट नया Buzz शब्द है। लोग या तो डिजिटल मार्केटिंग विशेषज्ञ बनना चाहते हैं या अपने व्यवसाय को बढ़ाने के लिए डिजिटल मार्केटिंग का लाभ उठाना चाहते हैं।इसलिए, यदि आप डिजिटल मार्केटिंग सीखना चाहते हैं और दूसरों को उच्च गुणवत्ता वाला ट्रैफ़िक प्राप्त...

SEO क्या है और website के लिए यह क्यों जरूरी है | SEO in Hindi

SEO क्या है ? SEO का पूरा नाम सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (search engine optimization) है, SEOएक process औरprocedure है जिसके जरिये website को google के first page पर लाया जाता हैं, जिससे website का traffic increase होता है,  और ये तो हम सभी जानते हैं कि किसी भी...
Google search console

Google Search Console Overview (Hindi) Complete Beginner’s Guide

क्या आपके पास अपनी वेबसाइट है या आप किसी Clint के लिए काम करते हैं? यदि हां, तो बेशक, इसे करने के लिए आपको अपनी वेबसाइट के performance पर गहरी नजर रखने की जरूरत है। Google आपकी वेबसाइट का data collect करने और उसका analyse करने के लिए कई tool प्रदान करता है। आपने शायद...
Digital marketing agencies in India

Top 10 Digital marketing agencies in India

I am sure that your business has a Facebook fan page, whether you own a big multinational company or a small eatery. I recommend you get one right away if you don't already have it, as it can do wonders for your business. Facebook fan pages are not enough anymore;...
How to apply for a Migration certificate

What is a Migration certificate | How to apply for a Migration certificate?

A migration certificate is a document provided by the School/College/University to students to get admissions into other institutions. The school or college officials are responsible for giving this important document along with necessary documents (like mark sheets,...
Digital marketing in hindi

Digital marketing in Hindi: Course and Career

With the rise of the internet, Digital Marketing has now become the need of the hour with the majority of organizations and individuals trying to cash in opportunities and careers in the field. This Great Learning Course on Introduction to Digital Marketing will help...
Digital marketing business

How to Start Digital Marketing Business in India

What is digital marketing Digital marketing is a form of advertising that focuses on the internet and social media channels, with many people believing it just includes Facebook ads. However, digital marketers often do more than post advertisements to these platforms;...
Digital marketing in Hindi

Digital market in Hindi | डिजिटल मार्केटिंग हिन्‍दी में

इस pandemic ने हमें इंटरनेट और डिजिटल मार्केटिंग के महत्व का एहसास karaya hai। जियो और अन्य नेटवर्कों का धन्यवाद जिन्होंने इंटरनेट को इतना सुलभ बनाया, लेकिन लोग आज भी ज्ञान की कमी के कारण डिजिटल मार्केटिंग का उपयोग करने से हिचकिचाते हैं। लेकिन इस दुविधा को खत्म करते...
Affliate marketing in Hindi

Affiliate marketing in Hindi

Affiliate Marketing किसी अन्य ब्रांड और कंपनी के उत्पादों या सेवाओं को बढ़ावा देने की प्रक्रिया है और हर बार जब आप बिक्री करते हैं तो आपको कमीशन मिलता है। दूसरे शब्दों में आप कह सकते हैं कि यह कमीशन का दूसरा रूप है । आप किसी अन्य कंपनी के products का प्रचार करते हैं...
Digital marketing in India

Digital marketing in India

Digital marketing isn't just for India but around the globe. A digital marketing strategy is a must for every business. A digital marketing campaign can increase your sales, traffic to your website and improve your visibility online. The majority of Indian businesses...